shivratri 2020 में भगवान शिव की आराधना कर मन चाहा वरदान कैसे प्राप्त करें।

shivratri 2020 में भगवान शिव की आराधना कर मन चाहा वरदान कैसे प्राप्त करें।

shivratri how to get the boon you want by worshiping lord shiva in 2020.

  सावन महीना भगवान शंकर जी का महीना माना जाता है। इस महीने में भगवान शंकर की पूजा अर्चना करने से सीधी कृपा होती है। और सारे दुःख , दर्द दूर होते हैं और समृद्धि प्राप्त होती है। और महाशिवरात्रि ( maha shivratri ) पर्व इसी महीने में सोमवार के दिन मनाया जाता है।

Shivratri

  महाशिव रात्रि (maha shivratri)भगवान शंकर जी का दिन होता है। आमतौर पर सावन मास का पूरा महीना भगवान शंकर जी की कृपा बनी रहती है। लेकिन सावन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को महाशिवरात्रि  (maha shivratri) पर्व होता है। जिस दिन भगवान शंकर जी पूजा अर्चना की जाती है। और जल भी चढ़ाया जाता है। सावन महीने में भगवान शंकर का व्रत रखने से दुःख, दर्द, इर्ष्या, दुश्मनी आदि का समापन होता है और जीवन से सुख शांति की प्राप्ति होती है।


      हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार सावन मास में व्रत रखना भगवान शंकर की सीधी कृपा आप पर बनी रहती है। सावन मास में व्रत रखना कुंवारी कन्याओं के लिए अच्छा होता है। इससे उन्हें मनचाहा वर प्राप्त होता है। सावन मास में मांस और मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। सावन मास साल का सबसे पवित्र साल होता है।

Maha Shivaratri 2020



      महाशिवरात्रि  (maha shivratri) के दिन व्रत रखा जाता है सुबह उठकर नहाकर पूरी आस्था के साथ भगवान शंकर के चरणों में जल अर्पित करके पूजा अर्चना कर व्रत रखा जाता है। शंकर जी की आराधना की जाती है। ताकि सारे पाप, दुःख, दर्द, द्वेष की भावना हमारे से दूर हो जाए और सुख वा शांति की प्राप्ति होती है। सावन मास में दान करना बहुत पुण्य माना जाता है।


      पिछले साल शिवरात्रि 2019 (shivratri 2019) को बड़ी धूमधाम से मनाया गया था और हर जगह भगवान शंकर जी की भव्य पूजा अर्चना कर उपवास रखा गया था। और दान पुण्य भी किया गया था।

Tags - Shivaratri , maha Shivaratri , Shivaratri 2020 , mahashivratri 2020


Happy Shivaratri


    सावन मास में सोमवार का बहुत महत्व होता है। कहा जाता हैं की सावन मास में सोमवार को भगवान शंकर की पूजा अर्चना करने के उनकी कृपा होती है। महा शिवरात्रि (maha shivratri) के दिन भगवान शंकर की पूजा अर्चना की जाती है साथ में व्रत रखकर मा पार्वती, भगवान गणेश , नंदी और कार्तिकेय की भी पूजा की जाती है। और साथ में शंकर चालीसा वा शिव मंत्रो का भी जाप किया जाता है। 


      भगवान भोलेनाथ को बेल के पत्तों, धतूरा, भांग गांजा आदि चढ़ाया जाता है और गणेश जी को मिठाई का भोग लगाया जाता है। क्योंकि कोई शुभ काम करने से पहले भगवान गणेश जी की आराधना की जाती है ताकि सारा काम शुभ तरीके से हो। 


Shivratri 2019



       हिंदू धर्म के पौराणिक कथाओं के अनुसार महाशिवरात्रि (maha shivratri)  के दिन भगवान शंकर पृथ्वी का भ्रमण करते है। और अपने भक्तों के दुख - दर्द को दूर कर सुख शांति प्रदान करते है। साथ ही हमारे सारे पाप धुल जाते हैं। महाशिवरात्रि (maha shivratri)  के दिन भगवान शंकर जी के मंदिर पर जाकर शंकर चालीसा पढ़ना चाहिए और शंकर मंत्र का उच्चारण करना चाहिए।


      इस साल शुभ शिवरात्रि (Happy Shivaratri) को कोरोना (Corona) महामारी के बीच में सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए मानना चाहिए। और हो सके तो ज्यादा भीड़ - भाड में ना जाकर घर पर ही भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना करें। महाशिवरात्रि (maha shivratri)  को भगवान शंकर जी की कृपा बनी रहती है। ॐ नमः शिवाय मंत्र का उच्चारण करना चाहिए। शिवरात्रि 2020 (Shivratri 2020) में 19 फरवरी को है।


इसे भी पढ़ें : इस अभिनेत्री (actress) का एक बेकरी में काम करने से पोर्न फिल्म (porn Film) और बॉलीवुड (Bollywood)तक ऐसे रहा सफर



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां