राहत इंदौरी न्यूज Rahat Indori news । ऐसे था राहत इंदौरी का शायराना सफर

   मशहूर शायर राहत इंदौरी साहब का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। राहत इंदौरी साहब कोविड- 19 से पॉजिटिव पाए गए थे। इलाज होने के दौरान उनकी मौत हो गई।

राहत इंदौरी न्यूज Rahat Indori news
राहत इंदौरी न्यूज Rahat Indori news

   भारत के मशहूर उर्दू शायर और गीतकार राहत इंदौरी साहब का मंगलवार 11 अगस्त 2020 को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 70 साल के थे। राहत इंदौरी साहब को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। और उनका इलाज़ आरविंदो अस्पताल भोपाल में इलाज चल रहा था। लेकिन बीते मंगलवार को शाम पांच बजे दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। उनको  इंदौर के खजरनी कब्रस्तान में बुधवार को रात 9:00 बजे दफनाया गया। राहत इंदौरी साहब देश के उन शायरों में गिने जाते थे जो ना सिर्फ भारत में बल्कि विदेशों में भी अपने देश का नाम रोशन किया था। राहत इंदौरी साहब की मृत्यु से दुनिया भर में उपस्थित उनके फैंस को बहुत दुख हुआ। देश के कई दिग्गज अभिनेता और नेताओं ने राहत इंदौरी साहब की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया है। ( राहत इंदौरी न्यूज Rahat Indori news )


        आपको जानकारी के लिए बता दूं की राहत इंदौरी साहब का जन्म 1 जनवरी 1950 को इंदौर में हुआ था। बरकतुल्लाह यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मध्य प्रदेश से किया था। पढ़ाई पूरी करने के बाद राहत इंदौरी साहब पेंटर का काम करने लगे। और कुछ दिनों तक पेंटर का काम करने के बाद इन्होंने काम छोड़ दिया और एक यूनिवर्सिटी में उर्दू के प्रोफेसर के पद पर तैनात हो गए। और धीरे धीरे उर्दू की शायरी लिखने लगे। और राहत इंदौरी ने प्रोफेसर के पद के साथ - साथ कवि सम्मेलन में भी जाने लगे। और अपनी शायराना अंदाज से लोगों का दिल जीतने लगे। ये उर्दू के एक मात्र ऐसे शायर थे जिन्होंने दुनिया भर के कई देशों में अपने शायरी का प्रचार प्रसार किया।साथ ही भारत का नाम भी रोशन किया। ( राहत इंदौरी न्यूज Rahat Indori news )

     राहत इंदौरी कई बड़े शायरों के साथ कवि सम्मेलन किया यहां तक की उन्होंने अपने शायर होने का एक tahjieeb भी पूरी दुनिया को दिया। राहत इंदौरी साहब का विवाह मशहूर कवियित्री अंजुम रहबर से हुआ था।जो की देश की जानी मानी कवियित्रियों में से एक थी। लेकिन कुछ सालों बाद दोनों अलग हो गए। लेकिन राहत इंदौरी साहब और अंजुम रहबर दोनों लोगों ने स्टेज पर एक साथ कवि सम्मेलन करना बंद नहीं किया।और दोनों वर्षों से अपने कवि होने का पताका लहराते रहे। ( राहत इंदौरी न्यूज Rahat Indori news )

     राहत इंदौरी साहब भाई - बहन मिलाकर 5 लोग थे। राहत इंदौरी से बड़े दी बहन और एक भाई थे।जबकि एक भाई छोटा था। इन्हें बचपन में बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। राहत इंदौरी साहब के घर की आर्थिक स्थिति बहुत ठीक नहीं थी। बचपन में इन्हे काम पर जान पड़ा। 9 या 10 साल की उम्र में राहत साहब काम पर जाने लगे। इन्होंने पेंटर का काम शुरू कर दिया जो की दुकानों के लिए बोर्ड पैंट करते थे। कुछ दिन तक इन्होंने वहीं पर काम किया और अच्छे पेंटर बन गए। लेकिन राहत साहब का लक्ष्य पेंटर बनना नहीं था। इन्होंने अपनी पढ़ाई शुरू कर दिया। राहत इंदौरी साहब ने अपनी पहली शायरी 19 साल की उम्र में सुनाया था। राहत इंदौरी साहब ने अपने पढ़ाई के दिनों में भी मशहूर होने का जज्बा लेकर शायरी लिखने लगे। और धीरे - धीरे उनका ये सिलसिला आगे बढ़ चला। राहत इंदौरी न्यूज Rahat Indori news
    





टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां